1 Sep 2013

तलाश ना कर

Posted by sapana

dying candles

बुज़ते दियेसे रोशनीकी तलाश ना कर
रोती आंखोसे तुं हंसीकी तलाश ना कर

सेहरा है येह सेहरा!! जिंदगी मेरी विरान है
सेहरामे तुं अब पानीकी तलाश ना कर

ख्वाब है तेरा मेरा मिलना इस ज़िदगीमे
ख्वाबोमे तुं ज़िदगानीकी तलाश ना कर

अब होंसला नही और गम उठानेका मुज़मे
ढलती उम्रसे जवानीकी तलाश ना कर

पानीका बुलबुला है, ज़िदगी पल दो पल है
ता-क्यामत तकके साथीकी तलाश ना कर

‘सपना’ नाम रख लेनेसे सपने पूरे नहीं होते
अफसानेमे तुं उम्रे फानीकी तलाश ना कर

सपना विजापुरा

Leave a Reply

Message:

 


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /homepages/1/d487227804/htdocs/hindi/wp-includes/script-loader.php on line 2678