25 Mar 2015

अच्छा लगता है

Posted by sapana

moonlight_walk-wide

ख्वाबोमे जीना अच्छा लगता है
पंख बिना ऊडना अच्छा लगता है

एक और गम,एक और गम दो हमे
जख्मोको सीना अच्छा लगता है

अब शाममे आंखे नम नहीं होती है
यादोमे मुस्कुराना अच्छा लगता है

अगर मचल जाउं तो सीनेसे लगाना
बहानेसे लीपटना अच्छा लगता है

तितलीका ‘सपना’ एक फूल ही सही
कांटोसे उलजना अच्छा लगता है

सपना विजपुरा

Leave a Reply

Message:

 


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /homepages/1/d487227804/htdocs/hindi/wp-includes/script-loader.php on line 2678